Mera ishq ka vehem | Hindi Poem

More Garden Festival Pictures

कुछ उस पल तुमने अगर कहा होता,
तो मेरे दिल में भी इश्क का वहम रहा होता ॥

मेरे  दिल पर अगर इक पल हाथ रखा  होता,
तो बाहों में सदा के लिए जकड़ लिया होता ॥

मेरी आँखों को उस पल तुमने पढ़ा होता,
तो शायद दीवानों सा लबों को चूम लिया होता ॥

पर ऐसा हो न सका ।

आँखों में आस रह गई, लबों पे प्यास रह गई ।
बाहें  उदास रह गई, दिल ही में दिल की बात रह गई ॥

कुछ उस पल तुमने अगर कहा होता,
तो मेरे दिल में भी इश्क का वहम रहा होता ॥

Share this: